Kharinews

शिवराज सरकार ने 50 करोड़ दिए चिरायु अस्पताल को, हाईकोर्ट में सुनवाई 16 जून को

Jun
13 2020

भोपाल : 13 मई/ कोरोना मरीजों के इलाज के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने भोपाल के चिरायु अस्पताल को ढाई माह में करीब 50 करोड़ रुपए दिए हैं, इस मामले में जबलपुर हाईकोर्ट में लगाई गई एक जनहित याचिका पर 16 मई को सुनवाई होने वाली है। जिसमें हाइकोर्ट विस्तार से सुनवाई करके राज्य सरकार से जवाब मांग सकता है। 

उल्लेखनीय है कि जनहित याचिका भोपाल के सामाजिक कार्यकर्ता भुवनेश्वर मिश्रा की ओर से जबलपुर हाईकोर्ट में एडवोकेट प्रशांत चौरसिया ने एक सप्ताह पहले 6 जून को दाख़िल की थी। एडवोकेट चौरसिया का कहना है कि रिट पिटीशन NP 8092/2020 में कहा गया है कि मध्य प्रदेश शासन द्वारा गलत तरीके से नियम विरूद्ध कोरोना के मरीजों के नाम पर चिरायु अस्पताल के मालिक अजय गोयनका (जो व्यापम कांड के आरोपी भी है ) को करीब 50 करोड़ रूपये का भुगतान किया गया है,जबकि भोपाल में कई बड़े सरकारी अस्पताल मौजूद है परंतु मुख्यमंत्री शिवराज सिंह सरकार ने राजधानी में शुरू से ही कोविड 19 के मरीजों के भर्ती उपचार का सेंटर चिरायु मेडिकल कॉलेज भैंसा खेड़ी भोपाल और बंसल अस्पताल शाहपुरा भोपाल को बनाया है, ये मनमानी मुख्यमंत्री ने की है, जबकि ये केंद्र सरकार के नियमों के पूरी तरह विरुद्ध है। 

कोरोना इलाज भ्रष्टाचार : शिवराज सरकार ने चिरायु अस्पताल को दिए करोड़ों रुपये

कोरोना मरीजों के इलाज के लिए भोपाल में सरकारी मेडिकल कॉलेज गांधी मेडिकल कॉलेज ,एम्स और भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल आदि बड़े संस्थान मौजूद है, परन्तु भयंकर महामारी में विधिवत तौर पर  इन शासकीय अस्पतालों का पूरा इस्तेमाल शासन द्वारा जानबूझकर नहीं किया जा रहा है । 

सरकार ने कोरोना की शुरुआत के साथ ही चिरायु को इलाज के लिए अधिकृत कर दिया, इस दौरान इस निजी मेडिकल कॉलेज में कोई चैरिटी के तहत मरीजों का इलाज नहीं किया जा रहा है बल्कि सरकार से करोड़ों रुपए इलाज के लिए दिए जा रहे हैं। इस पैसे को याचिकाकर्ता ने जनता के पैसे की बर्बादी बताया है, इस तरह से सरकार ने अपने सरकारी संस्थानों की अनदेखी की है और निजी चिकित्सा संस्थानों को बढ़ावा देने का कार्य किया है। एडवोकेट चौरसिया के अनुसार इस मामले में 16 जून को हाई कोर्ट सुनवाई करेगा जिसमें याचिकाकर्ता की तरफ से वह कोर्ट में इस मामले से संबंधित तथ्य प्रस्तुत करेंगे।

About Author

रानी शर्मा

लेखिका www.kharinews.com की सम्पादक हैं.

Related Articles

Comments

 

बिहार में कोरोना जांच को लेकर तेजस्वी और मंत्री आए आमने-सामने

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive