Kharinews

चीनी राज्य परिषद ने 'शिनच्यांग' में ऐतिहासिक मुद्दों पर श्वेतपत्र जारी किया

Jul
21 2019

बीजिंग, 21 जुलाई (आईएएनएस)। चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने रविवार को 'शिनच्यांग' में कई ऐतिहासिक मुद्दों पर श्वेतपत्र जारी किया।

श्वेतपत्र के अनुसार, चीन का शिनच्यांग उइगर स्वायत्त प्रदेश चीन के पश्चिमोत्तर क्षेत्र में स्थित है, जिसकी सीमा मंगोलिया, रूस, कजाकिस्तान, किर्गिजस्तान, ताजिकिस्तान, अफगानिस्तान, पाकिस्तान और भारत से लगती है। अतीत में सुप्रसिद्ध 'रेशम मार्ग' यहां पर प्राचीन चीन को दुनिया से जोड़ता था, और शिनच्यांग विभिन्न सभ्यता और संस्कृति को एकजुट करने वाला स्थान बन गया।

श्वेतपत्र में कहा गया है कि चीन एक एकीकृत बहु-जातीय देश है और शिनच्यांग में विभिन्न जातियां रक्त से जुड़े चीनी राष्ट्र के सदस्य हैं। ऐतिहासिक विकास की लंबी प्रक्रिया में, शिनच्यांग की नियति हमेशा महान मातृभूमि और चीनी राष्ट्र की नियति से निकटता से जुड़ी रही है। लेकिन कुछ समय के बाद से, देश और विदेश में शत्रुतापूर्ण ताकतों, खासकर जातीय अलगाववादी ताकतों, धार्मिक चरमपंथी ताकतों और हिंसक आतंकवादी ताकतों ने इतिहास को विकृत और सही-गलत में उलझा देने के बाद चीन को विभाजित करने की कोशिश की।

श्वेतपत्र में जोर देकर कहा गया है कि इतिहास से छेड़छाड़ और तथ्यों से इनकार नहीं किया जा सकता। शिनच्यांग चीन की पवित्र प्रादेशिक भूमि का एक अविभाज्य हिस्सा है। शिनच्यांग कभी भी तथाकथित 'पूर्वी तुर्किस्तान' नहीं रहा है, उइगर जाति दीर्घकालिक प्रवास और एकीकरण के माध्यम से बनने वाली जाति है, जो चीनी राष्ट्र का महत्वपूर्ण हिस्सा है। शिनच्यांग एक ऐसा क्षेत्र है, जहां विभिन्न संस्कृति और धर्म के लोग सह-अस्तित्व के साथ रह रहे हैं।

श्वेतपत्र में कहा गया है कि वर्तमान में, शिनच्यांग की अर्थव्यवस्था, संस्कृति, धर्म और जनजीवन का स्वस्थ और स्थिर विकास हो रहा है। विभिन्न जातियों के लोग एकजुट होकर रहते हैं। अभी शिनच्यांग इतिहास में सबसे समृद्ध और विकासित काल से गुजर रहा है।

(साभार : चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)

Related Articles

Comments

 

लीड्स टेस्ट : इंग्लैंड 67 पर ढेर, आस्ट्रेलिया को अब तक 283 की बढ़त

Read Full Article

Subscribe To Our Mailing List

Your e-mail will be secure with us.
We will not share your information with anyone !

Archive